home page

श्रद्धा मर्डर केस : श्रद्धा के हत्यारे आफताब का होगा नार्को टेस्ट , अब खुलेगा राज इस घिनोंने काम को उसने कैसे दिया अंजाम ?

आफताब की गिरफ्तारी के बाद श्रद्धा की मौत कैसे हुई इसको लेकर अलग-अलग लोग तरह-तरह की बातें कर रहे हैं. इस बीच दिल्ली पुलिस ने साकेत कोर्ट में नार्को टेस्ट कराने की अर्जी दाखिल की है।
 | 
shraddha murdrer aftab

श्रद्धा मर्डर केस :

दिल्ली के साकेत कोर्ट में हुए श्रद्धा मर्डर केस में दिल्ली पुलिस ने आफताब का नार्को टेस्ट कराने की इजाजत मांगी है. नार्को टेस्ट के लिए आरोपी की सहमति जरूरी होने के बावजूद अभी तक कोर्ट से कोई लिखित अनुमति नहीं मिली है. यह एक लंबी प्रक्रिया है। कई टेस्ट कराने होंगे। आफताब को कल कोर्ट में पेश होना है। आफताब लगातार जांच को भटकाने की कोशिश कर रहा है।

पुलिस का कहना है कि वह श्रद्धा के मोबाइल फोन और हत्या में प्रयुक्त आरी के बारे में सही जानकारी नहीं दे रहा है। वह कभी महाराष्ट्र तो कभी दिल्ली में मोबाइल फेंकने की बात कह रहा है। उसने अभी तक हथियार के बारे में कोई जानकारी नहीं दी है। अब पुलिस नार्को टेस्ट के जरिए मामले की आगे की जांच करेगी। इससे पहले पुलिस आफताब को उसी जंगल में ले गई थी जहां उसने श्रद्धा के शरीर के टुकड़े फेंके थे.

shraddha and aftab

मनोरोग विशेषज्ञ की मदद क्यों ले रही पुलिस 

दिल्ली पुलिस का कहना है कि वह आफताब से पूछताछ के सिलसिले में मनोचिकित्सक से सलाह ले रही है. पुलिस के मुताबिक जिस तरह से उसने हत्या को अंजाम दिया और शव के 35 टुकड़े कर दिए उससे साफ हो जाता है कि उसकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं है. इसलिए एक मनोचिकित्सक आमतौर पर पूछताछ के दौरान यह निर्धारित करने में मदद करने के लिए मौजूद होता है कि संदिग्ध मानसिक स्थिति में है या नहीं।

दोस्त की आशंका के बाद दर्ज हुआ था मामला

श्रद्धा वाकर की गुमशुदगी की रिपोर्ट 12 अक्टूबर को मानिकपुर थाने में दर्ज कराई गई थी। दरअसल, श्रद्धा के बचपन के दोस्त लक्ष्मण ने श्रद्धा के पिता विकास वाकर से कहा था कि वह पिछले कई महीनों से उनकी  बेटी से संपर्क नहीं हो पा रही  है और अनहोनी की आशंका है। इसके बाद श्रद्धा के पिता विकास वाकर ने शिकायत दर्ज कराई।

लाश को ऐसे ठिकाने लगाता रहा आरोपी

दिल्ली में अपनी लिव-इन पार्टनर की हत्या कर उसके शव के टुकड़े-टुकड़े करने के आरोपी आफताब अमीन पूनावाला के बारे में अब तक कुछ बातें सामने आई हैं। इससे पहले पुलिस उसे छतरपुर जंगल ले गई, जहां उसने कथित तौर पर श्रद्धा वाकर के शरीर के 35 टुकड़े फेंक दिए। पूनावाला पर आरोप है कि उन्होंने श्रद्धा के शरीर के अंगों को दक्षिणी दिल्ली के महरौली स्थित अपने घर में लगभग तीन सप्ताह तक 300 लीटर के फ्रिज में रखा और कई दिनों तक उनका निपटान किया।