home page

पूरे उत्तर भारत मे पड़ रहा ठंड के प्रकोप , अगर बचना है बीमारियों से तो करे यह उपाय

उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड पड़ रही है और ठंड के मौसम की वजह से लोग खांसी, जुकाम और बुखार जैसी चीजों से बार-बार बीमार हो रहे हैं। ऐसे में इस मौसम में कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए।
 | 
winter and cold in east india

ठंड का प्रकोप 

राजधानी दिल्ली समेत उत्तर भारत में पिछले कुछ दिनों से कड़ाके की ठंड पड़ रही है। कल दिल्ली में न्यूनतम तापमान गिरकर 1.8 डिग्री सेल्सियस पर आ गया था। सर्द मौसम की वजह से ब्रेन स्ट्रोक और हार्ट अटैक के मामले ज्यादा सामने आए हैं। देश के कई राज्य ऐसी ही समस्या का सामना कर रहे हैं। हल्की हवा चलने पर भी इस मौसम में आपको सर्दी और बुखार हो सकता है। बीमार होने से बचने के लिए आपको सावधान रहने और कुछ गलतियां करने से बचने की जरूरत है। यहा आज हम आपको कुछ चीज़े बताएंगे जिसको आप इस ठंड मे अपना ख्याल रखने के लिए कर सकते है । 

winter and cold

ठंड मे खूब पानी पिए 

डिहाइड्रेशन एक ऐसी समस्या है जो सर्दियों में बहुत से लोगों को होती है। ऐसा इसलिए क्योंकि इस दौरान लोग पानी कम पीते हैं और ठंड में प्यास कम लगती है। हालाँकि, आपके शरीर में पर्याप्त पानी की कमी हानिकारक हो सकती है, चाहे कोई भी मौसम हो। इसलिए हाइड्रेटेड रहने के लिए खूब पानी पीना और ढेर सारे फल खाना महत्वपूर्ण है। खिचड़ी और दलिया जैसे खाद्य पदार्थों में भी पानी होता है, इसलिए इन्हें खाने से भी आपको हाइड्रेटेड रखने में मदद मिल सकती है।

इन चीजों को डाइट मे करे शामिल 

कड़ाके की ठंड में आपको अपनी सेहत का खास ख्याल रखने की जरूरत है। इस मौसम में शरीर को गर्मी देने वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करें। सर्दियों में अपने दैनिक आहार में तिल, गुड़ और सूखे मेवे जैसी गर्म चीजों को शामिल करें। इसके अलावा आप अपनी रोजाना की चाय में हल्दी, अदरक, दालचीनी और काली मिर्च भी शामिल करें। इससे न सिर्फ आपकी चाय का स्वाद बढ़ेगा बल्कि इससे आपके शरीर को कई फायदे भी होंगे।

बंद कमरे मे ना जलाए अलाव 

ठंड के मौसम में अलाव जलाना आम बात है, लेकिन आपको कभी भी अपने घर के अंदर अलाव नहीं जलाना चाहिए। कुछ लोग ऐसा कमरे को गर्म रखने के लिए करते हैं, लेकिन यह बहुत खतरनाक होता है क्योंकि इससे कार्बन मोनोऑक्साइड नामक गैस निकल सकती है। यह गैस आपको सांस लेने से रोक सकती है, इसलिए जब भी आप अलाव या अंगीठी का उपयोग करें, सुनिश्चित करें कि कमरा पूरी तरह से बंद न हो। गैस को निकलने दें ताकि यह आपको नुकसान न पहुंचाए।

बुजुर्गो को अपने सेहत का रखना चाहिए ख्याल 

ठंड के मौसम में बुजुर्गों को अपना खास ख्याल रखने की जरूरत होती है। उन्हें बहुत सारे तरल पदार्थ पीने चाहिए और स्वस्थ भोजन खाना चाहिए। अगर उन्हें बुखार या सीने में कोई संक्रमण है, तो उन्हें तुरंत डॉक्टर को दिखाना चाहिए। उन्हें जितना संभव हो सके घर के अंदर रहने की कोशिश करनी चाहिए, और यदि वे बाहर जाते हैं, तो उन्हें गर्म कपड़े पहनना सुनिश्चित करना चाहिए।

खुद को ऐक्टिव रखना चाहिए 

भीषण ठंड के मौसम में लोग अक्सर शारीरिक गतिविधि से बचते हैं और घर के अंदर रहना पसंद करते हैं। हालाँकि, यह एक बुरी आदत है, क्योंकि एक जगह बैठने से आपको ठंडक का एहसास हो सकता है, जबकि इधर-उधर घूमने से आपका खून बहता रहेगा। हालाँकि, याद रखें कि आपको बहुत अधिक शारीरिक गतिविधि करने की आवश्यकता नहीं है। अगर आपको थकान महसूस होने लगे तो तुरंत ब्रेक लें।

शितलहर से बचने के लिए ऐसा उपाय करे 

अगर आप ज्यादा देर तक ठंडे मौसम में रहते हैं तो यह खतरनाक हो सकता है। थोड़ी देर के लिए कम तापमान में रहने पर आपका शरीर गर्मी खोने लगता है, जिससे आपके शरीर का तापमान कम हो सकता है। इससे बचने के लिए बेहतर है कि सिर्फ एक भारी कोट या स्वेटर पहनने की बजाय ढेर सारे कपड़े पहनें। इस तरह, ठंडी हवा आपके शरीर के अंदर नहीं जा पाएगी।

इसके अलावा इस बात का भी ध्यान रखें कि इस मौसम में आपको टाइट कपड़े नहीं पहनने चाहिए। आपके कपड़े ढीले होने चाहिए क्योंकि वे आपके शरीर को बेहतर सांस लेने देंगे और आप अधिक आरामदायक महसूस करेंगे। अपने आप को गर्म कपड़ों से ढक कर रखें, खासकर जब बाहर जा रहे हों, और अपने पैरों, सिर और कानों को ढकना सुनिश्चित करें।