home page

बसंत पंचमी के दिन इन कार्यों को ना करे, नहीं तो होगा कलेश, 26 जनवरी को आ रही है बसंत पंचमी

बसंत पंचमी : बसंत पंचमी हिन्दू धर्म मे सबसे अच्छा दिन माना जाता है इस दिन को शुभ मुहूर्त के नाम से भी जाना जाता है और इस दिन आप किसी भी काम का शुरुवात आराम से कर सकते है , लेकिन इस दिन कुछ ऐसे भी काम होते है जिनको करने से बचना चाहिए ।  

 | 
Basant Panchmi

बसंत पंचमी

बसंत पंचमी पर विद्या, कला और संगीत की देवी सरस्वती की विशेष रूप से पूजा की जाती है। बसंत पंचमी हर साल माघ मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को मनाई जाती है। इस वर्ष बसंत पंचमी का पर्व 26 जनवरी 2023 दिन गुरुवार को मनाया जा रहा है । इस दिन को अबूझ मुहूर्त भी कहा जाता है । यह वह शुभ मुहूर्त है, जिस दिन आप हर शुभ कार्य बिना सोचे  कर सकते हैं, लेकिन कुछ कार्य ऐसे भी हैं, जिन्हें बसंत पंचमी के दिन नहीं करना चाहिए । वे कार्य कौन से है ,आइए जानते हैं इसके बारे मे । 

Basant Panchmai

पेड़-पौधे नहीं काटना चाहिए 

बसंत पंचमी के दिन लोगों का मानना ​​है कि किसी भी पेड़-पौधे को नुकसान नहीं पहुंचाना चाहिए। इसका मतलब यह है कि किसी को भी गलती से भी पौधों से फूल नहीं काटने चाहिए या उन्हें तोड़ना नहीं चाहिए।

शुद्ध भोजन करना चाहिए 

बसंत पंचमी एक ऐसा दिन है जब हम मां सरस्वती की पूजा करते हैं। इस दिन केवल शाकाहारी भोजन ही करना चाहिए मांस और शराब से परहेज करना चाहिए, क्योंकि ऐसा न करने पर मां सरस्वती नाराज हो सकती हैं। हमें सात्विक भोजन खाने की भी कोशिश करनी चाहिए,इस तरीके के भोजन से  हमें गुस्सा या परेशानी नहीं होती । 

धूम्रपान नहीं करना चाहिए 

बसंत पंचमी का दिन कई धार्मिक लोगों द्वारा बहुत ही खास और पवित्र दिन माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि इस दिन धूम्रपान करना अच्छा नहीं होता है।

सभी लोगों का आदर सम्मान करना चाहिए 

बसंत पंचमी के दिन बड़ों के पैर छूकर उनका आशीर्वाद लेने का महत्व है। इस दिन सभी का सम्मान करना चाहिए और किसी की उपेक्षा नहीं करनी चाहिए।

इस रंग के कपड़े से परहेज करे 

धार्मिक मान्यताओं में कहा गया है कि बसंत पंचमी के दिन पीले रंग के कपड़े पहनना शुभ होता है और इस दिन काले रंग के कपड़े पहनने से बचना चाहिए।

कंघी ना करे 

हिंदू धर्म ग्रंथों के अनुसार बसंत पंचमी के दिन सुबह स्नान करने के बाद बालों में कंघी करनी चाहिए। हालांकि इस दिन सूर्यास्त के बाद बालों में कंघी करने से बचना चाहिए। हिंदू धर्म ग्रंथों में कंघी को लेकर कई नियम बताए गए हैं।