home page

क्या आपका बच्चा भी चलाता है पूरे दिन फोन, ये काम करिए और उसकी ये आदत छूट जायेगी

पूरे दिन मोबाइल चलाना आपके बच्चे की सेहत के लिए खराब हो सकता है, इसलिए यह जानना जरूरी है कि मोबाइल की लत से कैसे छुटकारा पाया जाए।

 | 
save from mobile use

हम अक्सर देखते हैं कि छोटे बच्चे अपना ज्यादातर समय मोबाइल फोन के साथ बिताते हैं। इतना ही नहीं अगर आप उनसे अपना फोन लेते हैं तो वे खाना भी नहीं खाते। 

अगर आपके बच्चे को भी अपने मोबाइल फोन का ज्यादा इस्तेमाल करने की आदत है तो आपको सतर्क रहने की जरूरत है। यह एक छोटी सी बुरी आदत आपको भविष्य में बहुत सारा पैसा खर्च कर सकती है। ज्यादा स्क्रीन टाइम आपके बच्चे की सेहत के लिए खराब हो सकता है। 

बच्चे आज अपने मोबाइल उपकरणों पर बहुत अधिक समय व्यतीत कर रहे हैं, और इसका उनके मानसिक स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव पड़ रहा है। 


  अपने बच्चो को  मोबाइल की लत से  कैसे दूर करे।

डॉक्टरों का कहना है कि स्क्रीन की इस लत से डिप्रेशन, चिड़चिड़ापन और अनिद्रा जैसे लक्षण बढ़ रहे हैं। 

अगर आप अपने बच्चे के मोबाइल के इस्तेमाल को लेकर चिंतित हैं, तो यहां कुछ टिप्स दिए जा रहे हैं, जिनकी मदद से आप इस आदत को छोड़ सकते हैं।

मोबाइल फोन की लत से जुड़े स्पष्ट जोखिमों के अलावा, कई शारीरिक जोखिम भी हो सकते हैं, जैसे भूख न लगना, दृष्टि संबंधी समस्याएं, सिरदर्द, गर्दन में दर्द और आंखों में दर्द। हालांकि, आपको इन जोखिमों के बारे में अत्यधिक चिंतित नहीं होना चाहिए। 

सुनिश्चित करें कि आप इसका उत्तर देने से पहले प्रश्न को समझते हैं। आखिर हम जानते हैं कि बच्चे की मोबाइल की लत को कैसे दूर किया जाए।


  मोबाइल के लत से बच्चो को करे दूर आइए जानते है कैसे।

कम उम्र में बच्चों को अपने माता-पिता से सबसे ज्यादा प्यार और देखभाल की जरूरत होती है। इस तरह की स्थिति में, अपने बच्चे के साथ अधिक समय बिताने की कोशिश करें, ताकि वे अपने मोबाइल डिवाइस पर जितना समय बिताएं वह धीरे-धीरे कम हो जाए। 

माता-पिता के लिए यह महत्वपूर्ण है कि वे अपने बच्चों के आस-पास की जाने वाली चीजों के प्रति सचेत रहें, क्योंकि इनका उनके दिमाग पर स्थायी प्रभाव पड़ सकता है। 

  इन गलतियों को करने से बचे।

निम्नलिखित 5 गलतियाँ करने से बचने की कोशिश करें, और इसके बजाय अपने खाली समय में अपने बच्चे को कुछ उपयोगी घरेलू गतिविधियों में व्यस्त रखें। इस स्थिति में बच्चे कई नई चीजें सीखेंगे और अधिक स्वतंत्र होंगे। 

यदि आपके बच्चे को कोई शौक है, तो वह उन शौक से संबंधित कक्षाओं में शामिल हो सकते है, जैसे नृत्य, संगीत, पेंटिंग या कोई अन्य कला। 

आपको छोटी उम्र से ही बच्चों में स्वाभाविक झुकाव देखने में सक्षम होना चाहिए। हमें कोशिश करनी चाहिए कि बच्चे ज्यादा से ज्यादा आउटडोर गेम्स खेलें। आप अपने बच्चे को ऐसे कार्य दे सकते हैं जो उन्हें और अधिक रचनात्मक बनाने में मदद करें। 

आप अपने बच्चे को अपने मोबाइल डिवाइस पर कम और जानवर पर अधिक ध्यान केंद्रित करने में मदद करने के लिए एक पालतू जानवर को घर ला सकते हैं।

यदि आपका बच्चा लगातार चीजों के लिए जिद करता है या उसे आसानी से नहीं देता है, तो उसके सामने अपने खुद के मोबाइल डिवाइस का कम उपयोग करने का प्रयास करें। कई बार, जब बच्चे अपने माता-पिता को अपने फोन पर अधिक समय बिताते हुए देखते हैं, तो उन्हें लगता है कि फोन मनोरंजन का सबसे अच्छा साधन है। 

इससे उन्हें अपने उन पर अधिक समय बिताने के लिए प्रेरित करता  है। अपने बच्चों को अपना होमवर्क या अन्य कार्य करने के लिए फोन या अन्य उपकरणों के साथ रिश्वत न दें। अगर आप चाहते हैं कि लोगों को उनके मोबाइल फोन पर गेम खेलने का मौका देकर काम कराया जाए, तो भविष्य में स्थिति और खराब हो सकती है।

दरअसल, जब कोई बच्चा मोबाइल फोन का इस्तेमाल कर रहा होता है तो उसका सारा ध्यान सिर्फ फोन पर ही होता है। वह अपना काम जल्दी खत्म कर लेता है ताकि वह अपने फोन पर गेम खेल सके। अगर आप बाद में उसे फोन नहीं देंगे तो वह आपके प्रति नेगेटिव फील करने लगेगा। इसलिए आपको ऐसी चीजों से बचना चाहिए। बच्चों को छोटी उम्र से ही स्वस्थ आदतें सिखाना जरूरी है ताकि वे बीमारियों से दूर रह सकें।